Amid controversy over a BBC documentary on PM Narendra Modi

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बीबीसी ने एक फिल्म बनाई है जिसका नाम रखा गया है  "India: The Modi Question"  , बीबीसी की दो भाग की सीरीज में बनी इस फिल्म के आने के बाद से ही इसपर भारत से लेकर विदेश तक में बवाल मचना शुरू हो गया है ।इस फिल्म में बीबीसी ने नरेंद्र मोदी के 2002 में गुजरात में सीएम रहते गोधरा दंगों का चित्रण किया है जिसे लेकर भारत में 302 पूर्व न्यायाधीश, पूर्व नौकरशाह और पूर्व सैन्य अधिकारियों ने भी भरपूर निंदा की है और कहा है की बीबीसी की यह डाक्यूमेंट्री हमारे नेता साथी भारतीय एवं एक देश भक्त के खिलाफ पक्षपातपूर्ण आरोप पत्र है जो नकारात्मकता और पूर्वाग्रह से ग्रसित है तो वहीं दूसरी तरफ ब्रिटेन के प्रधानमंत्री  ऋषि सुनक ने खुद को बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री सीरीज से यह कहते हुए अलग कर लिया कि वे अपने भारतीय समकक्ष के बारे में किए गए चित्रण से सहमत नहीं हैं.

बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री
बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री "India: The Modi Question" में यह दावा किया गया है कि फिल्म में 2002 के गुजरात दंगों से संबंधित कुछ पहलुओं पर पड़ताल की गई है और फिल्म में वही दिखाया गया है जो 2002 में मोदी के सीएम रहते गुजरात में घटित हुई थी । Photo courtesy: Twitter/@narendramodi

फिलहाल इस डॉक्यूमेंट्री को लेकर नाराजगी सामने आई है और फिर कुछ चुनिंदा प्लेटफार्मों से इसे हटा भी दिया गया है।बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री "India: The Modi Question" में यह दावा किया गया है कि फिल्म में 2002 के गुजरात दंगों से संबंधित कुछ पहलुओं पर पड़ताल की गई है और फिल्म में वही दिखाया गया है जो 2002 में मोदी के सीएम रहते गुजरात में घटित हुई थी । इस फिल्म को लेकर जहां पाकिस्तान के सांसद इमरान हुसैन द्वारा ब्रिटिश संसद में सवाल उठाए गए और फिल्म की तारीफ की गई ।

हालांकि विदेश मंत्रालय ने भी बीबीसी की रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया दी है और प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा  कहा कि यह पूरी तरह से पक्षपातपूर्ण है साथ ही गुजरात दंगों पर ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन (BBC) की  डॉक्यूमेंट्री को "प्रोपेगेंडा का हिस्सा" भी बताया है. इसे लेकर भारत सरकार ने कहा है कि वह ऐसी फिल्म का 'महिमामंडन' नहीं कर सकती जो पीएम पर दुष्प्रचार, पक्षपाती और औपनिवेशिक मानसिकता को दर्शाती है ।
फिलहाल भारत सरकार ने इस फिल्म के सीरीज को भारत में यूट्यूब पर प्रतिबंध लगा दिया है और फिल्म के लिंक को साझा करने वाले ट्वीट को भी ब्लॉक कर दिया है । इन सबके बीच इतना तय माना जा रहा है कि यह फिल्म अभी भारत से लेकर विदेशों तक में मोदी के चरित्र चित्रण को लेकर बखेड़ा खङे करेगी और भारत में तो सत्ता पक्ष और विपक्ष इसे लेकर सियासी पिच पर जमकर बैटिंग भी करेंगे क्योंकि 2024 को लोकसभा चुनाव के अब महज एक साल जो बचे हैं।

Author
Bharti Gosain
Bharti Gosain – Integrated Marketing Manager
Comments